WHO ने दी भारत को बडी चेतावनी, संभलो नही तो गांव बनेंगे कोरोना वायरस का केन्द्र

कही देश के गांव ना बन जाएगे कोरोना वायरस का केन्द्र

नई दिल्ली। चीन के वुहान शहर की वजह से पूरी दुनिया में तबाही मची है, कारण तो आप सभी को मालूम है – कोरोना वायरस।  भारत भी कोरोनो वायरस की चपेट में आने से नही बचा, इस वायरस का प्रकोप भारत में तेजी से बढ़ता जा रहा है।  कोरोना वायरस के  बचाव के लिए केन्द्र सरकार ने पूरे देश में ( Lock down ) लॉकडाउन  कर रखा है। लेकिन, इस दौरान लोगों का अपने घरो की ओर पलायन से यह खतरा बढ़ता ही दिख रहा है।  WHO साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि अगर भारत अभी नहीं संभला तो देश के गांव कोरोना वायरस का केन्द्र बन जाएगे।

सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का सही से पालन नहीं होना

डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने यह कहा कि भारत के लिए जो सबसे बड़ी चुनौती बनी हुई है वो है – सोशल डिस्टेंसिंग। उन्होंने कहा कि भारत में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का सही से पालन नहीं होता है। डॉ. स्वामीनाथन ने कहना है कि एक ही घर में कई लोग रहते हैं और एक ही बाथरूम का उपयोग करते हैं। जिससे किसी भी बीमारी के संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

गांवों के लिए पैदल ही रवाना

डॉ. सौम्या ने कहा कि जो लोग प्रवासी और मजदूर हैं वो लोग लॉकडाउन में ही अपने घरों और गांवों के लिए पैदल ही रवाना हो चुके हैं। इससे वायरस के फैलने का खतरा और बढ़ जाता है, अगर ये वायरस गांवों में पहुंचता हैं तो ग्रामीण इलाकों में संक्रमण का खतरा और बढ़ जाएगा और भारत के लिए बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाएगी।

काफी मुश्किलें हो जाएंगी खड़ी

अगर कोरोना वायरस ग्रामीण इलाकों में पहुंचा तो सरकार के लिए काफी मुश्किलें खड़ी हो जाएंगी क्यो कि कोरोना जांचो की संख्या बढ़ानी पड़ेगी। अब यह बिल्कुल साफ हो चुका है कि यह वायरस किसी भी उम्र में फैल रहा है। डॉ. स्वामीनाथन  का कहना है कि यूरोप समेत कई देश इस समय कोरोना वायरस के आगे झुक चुके हैं। अगर समय रहते नहीं संभले तो सबके लिए बहुत मुश्किलें बढ़ जाएगी, अब समय आ गया है कि केन्द्र सरकार को चाहिए कि वह टेस्टिंग की क्षमता जल्दी से जल्दी बढ़ाए।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X
error: Content is protected !!